नौटंकीबाज़ कौन है, मोदी-योगी या फिर प्रियंका और राहुल गांधी

नौटंकीबाज़ कौन है, मोदी-योगी या फिर प्रियंका और राहुल गांधी

प्रियंका गांधी ने यूपी के मज़दूरों को घर पहुंचाने के लिए मदद का हाथ बढ़ाया तो मोदी सरकार ने इसे ड्रामेबाज़ी बताया और पूरे मसले को उलझा कर तमाशा बना दिया. इससे पहले राहुल गांधी मज़दूरों से मिले तो निर्मला सीतारमण ने कहा कि वो ड्रामेबाज़ी कर रहे हैं. आख़िर ड्रामेबाज़ असल में कौन है.

ऐसा लगता है कि योगी आदित्यनाथ सरकार प्रवासी मजदूरों के मुद्दे पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra)को नीचा दिखाने पर तुली है. प्रियंका गांधी ने कहा कि वो यूपी के मज़दूरों को उनके घर तक पहुंचाने के लिए 1 हज़ार बसों का इंतज़ाम करना चाहती हैं, यूपी सरकार इसकी अनुमति देे. लेकिन पहले यूपी सरकार ने उनसे बसों को लखनऊ पहुंचाने के कहा जबकि मज़दूर दिल्ली, नोएडा और गाज़ियाबाद में फंसे हैं.

उसके बाद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) की उत्तर प्रदेश सरकार ने कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी को पत्र लिखकर कहा है कि अगर उन्हें लखनऊ में बसें पहुंचाने में दिक्कत है तो नोएडा और गाजियाबाद के डीएम को 12 बजे तक पहुंचा दें.

योगी सरकार के मंत्री और बीजेपी नेता इस मसले पर कह रहे हैं कि प्रियंका गांधी मदद के नाम पर नाटक कर रही हैं. क्या यह बात सही है ?