लॉकडाउन की धज्जियां उड़ा धार्मिक आयोजन में जुटे सैकड़ों, केस दर्ज, अधिकारी सस्पेंड

कोरोना संकट से निपटने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकारें आम जनता से लगातार निवेदन कर रही हैं कि वे लॉकडाउन का पूरी तरह पालन करें।

कलबुर्गी: कोरोना (Coronavirus) संकट से निपटने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकारें आम जनता से लगातार निवेदन कर रही हैं कि वे लॉकडाउन (Lockdown) का पूरी तरह पालन करें। अधिकतर लोग इसे गंभीरता से ले भी रहे हैं, लेकिन ऐसे बहुत सारे हैं जिन्होंने इस लॉकडाउन को मजाक बनाकर रख दिया है। ऐसे लोग न केवल बिना मतलब के घरों से बाहर निकल रहे हैं, बल्कि दूसरों को भी खतरे में डाल रहे हैं।

ऐसा ही एक मामला कर्नाटक के कलबुर्गी से सामने आया है। तमाम चेतावनियों के बावजूद धार्मिक आयोजन (religious event) किया गया। गुरुवार को कलबुर्गी में हुए इस आयोजन में सैकड़ों लोग जुटे। अब इन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

मिली जानकारी के मुताबिक जानकारी के मुताबिक यह आयोजन कलबुर्गी जिले के चितापुर इलाके में हुआ। मंदिर से जुड़े इस आयोजन में बच्चों और औरतों समेत सैकड़ों लोग इकट्टा हुए। इस भीड़ ने सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ा दीं। ज्यादातर लोग बिना मास्क या किसी फेस कवर के देखे गए। बता दें कि कलबुर्गी जिला कोरोना के हॉटस्पॉट्स में शामिल है और यहां कोरोना के कई मरीज सामने आ चुके हैं।

घटना की जानकारी सामने आते ही हड़कंप मच गया है। इस कार्यक्रम में शामिल हुए लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। साथ ही उन अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया गया है, जिनकी लापरवाही के चलते लॉकडाउन के बावजूद इस तरह का आयोजन हुआ और सैकड़ों लोग इकट्ठा हो गए। मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं।