कोरोना संक्रमण के मुद्दे पर सुधीर चौधरी और प्रशांत भूषण में छिड़ी जंग

कोरोना संक्रमण के मुद्दे पर जी न्यूज के संपादक सुधीर चौधरी और वकील प्रशांत भूषण के बीच सोशल मीडिया पर जंग छिड़ गई है। दरअसल, मुद्दा जी न्यूज के कर्मचारियों का कोरोना संक्रमित होना और उसके बाद सुधीर चौधरी का सोशल मीडिया पर ट्रोल होना है। दरअसल, सुधीर चौधरी ने दिल्ली के तबलीगी जमात के मुद्दे पर कोरोना जेहाद शब्द का इस्तेमाल किया था। इसी को लेकर अब सुधीर चौधरी को ट्रोल किया जा रहा है। प्रशांत भूषण ने भी इस मुद्दे को हाथ से जाने नहीं दिया है।

अपने ट्वीट में वह लिखते हैं, “सब लोग चाहते हैं कि उनका टेस्ट हो जाय और सबको वर्क फ्रॉम होम की अनुमति मिले. केवल जरूरी लोग ही दफ्तर आएं. लेकिन सुधीर चौधरी ने सबको धमकाते हुए कहा कि- मैं कल से ये नहीं सुनना चाहता कि किसी को बुखार आ रहा है, खांसी आ रही है”।क्या इसे तिहाड़ नहीं भेजा जाऐ?’

प्रशांत भूषण यह भी सवाल उठाते हैं, ‘आखिर क्यों जी के प्रबंधन और सुधीर चौधरी को क्यों नहीं गिरफ्तार किया गया कि उन्होंने कोविड पीड़ित कर्मियों को काम पर लगाए रखा और यह आपदा प्रबंधन अधिनियम और महामारी अधिनियम में बिल्कुल उल्लंघन है।’ इस ट्वीट में उन्होंने नोएडा पुलिस को टैग किया है।

उधर सुधीर चौधरी ने भी प्रशांत भूषण के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, ‘सुप्रीम कोर्ट को ऐसे वकीलों के ख़िलाफ़ स्वयं संज्ञान लेकर कार्यवाही करनी चाहिए जो ऐसे संकट के दौर में FAKE NEWS फैलाकर अपनी दुकानदारी चला रहे हैं।देश के तो ये कभी भी नहीं थे,लेकिन सुप्रीम कोर्ट का भी दुरुपयोग करते हैं।जिस खबर को ये सब लोग मिलकर फैला रहे हैं वो ग़लत है।’

चौधरी ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है, ‘हैशटैग जी न्यूज सील करो को ट्वीट करने वाले के लिए ब्रेकिंग न्यूज है। हमारा दफ्तर, न्यूजरूम और स्टूडियोज शुक्रवार को योग्य नोएडा प्राधिकरण द्वारा खुद ही सील रहा। ध्यान से आधिकारिक बयान पढ़ें और झूठ को फैलाने से रोकें। ‘